Cricketer, Arjun Tendulkar selected for U -19 ~ Gyanbest, Cricket news, SEO technology

Cricketer, Arjun Tendulkar selected for U -19

Cricketer, Arjun Tendulkar selected for U -19
Image source

Under-19 Cricket में एक ऐसे खिलाड़ी का selection हुआ है जिसका इंतजार क्रिकेट प्रेमियों को लंबे समय से था। इस खिलाड़ी ने अपने fast bowling प्रतिभा के कारण Under 19 में अपनी जगह बनाई है।अपनी fast bowling से अचंभित कर देनेवाला यह खिलाड़ी है Arjun Tendulkar son of Little Master Blaster Sachin Ramesh Tendulkar.


Arjun Tendulkar को पहली बार भारतीय टीम की अंडर 19 टीम में जगह जो मिली है। Arjun Tendulkar के National Junior Team में चुने जाने के पीछे दो वजहें खास रहीं। एक तो भारत की Under 19 और इंडिया A के कोच Rahul Dravid के टीम चयन को लेकर खास निर्देश और दूसरा Arjun का Extra Ordinary Fast Bowler होना उनके हक में रहा।
सवाल था कि आखिर Arjun को Under19 टीम में यह मौका कैसे मिला, जबकि कूच बिहार ट्रोफी में उनका Performance कुछ खास नहीं रहा था

इस सवाल पर सूत्र ने बताया, 'अगर आप चयन किए हुए खिलाड़ियों की लिस्ट देखें, तो आप पाएंगे कि इन खिलाड़ियों में अर्जुन ही ऐसा बोलर है, जो क्विक फास्ट बोलर है, जिसने 15 से ज्यादा विकेट अपने नाम किए हैं। जिन बोलर्स के खाते में अर्जुन से ज्यादा विकेट हैं वह स्पिन बोलर्स हैं। इसके अलावा अजय देव गौड (33 विकेट) ऐसे बोलर हैं, जो पूर्ण रूप से ऑलराउंडर हैं। लेकिन अजय स्लो मीडियम पेस बोलर है, जबकि अर्जुन तेज गेंदबाज।' 

इसके अलावा इस सूत्र ने यह भी बताया कि अभी हाल ही में वेस्ट और साउथ जोन के जोनल मैच उना में हुए हैं। इन मैचों में तेंडुलकर जूनियर का परफॉर्मेंस काबिले तारीफ रहा है और उन्होंने यहां एक मैच में 37 रन देकर 4 विकेट अपने नाम किए, जिनमें से 3 विकेट एक ही स्पेल में लिए थे।

इसके अलावा अंडर 19 टीम के कोच राहुल द्रविड़ की ओर से खिलाड़ियों के चयन को लेकर यह साफ निर्देश थे कि जो खिलाड़ी19 साल की उम्र को पार कर चुके हैं, उन्हें टीम में न चुना जाए, भले ही उनका परफॉर्मेंस शानदार रहा हो। Rahul Dravid के अनुसार, उम्र में 19 पार हो चुके खिलाड़ियों को रणजी ट्रोफी में खेलने के अवसर देने चाहिए। इस कारण ऐसे कई युवा खिलाड़ियों को इस टीम में नहीं चुना गया, जिनका Performance इस सीजन Arjun Tendulkar से बेहतर रहा है। राहुल द्रविड़ का यह फैसला अर्जुन के हक में गया। Rahul Dravid चाहते हैं कि 19 पार हो चुके खिलाड़ी रणजी टीम में खेलकर दूसरे सीनियर खिलाड़ियों के साथ अपने खेल को निखारें। बता दें कि अर्जुन सचिन तेंडुलकर के करीबी दोस्त सुब्रतो बैनर्जी की देखरेख में अपनी फास्ट बोलिंग की कला को निखार रहे हैं। 

Arjun  के पिता सचिन तेंदुलकर ने क्रिकेट जगत अनेको रिकॉर्ड बनाये और ऐसे कई रिकॉर्ड हैं जिसे अभी तक कोई भी नहीं तोड़ सका है और भविष्य में भी उन रिकॉर्डों की बराबरी करना काफी मुश्किल होगा।
क्रिकेट प्रेमियों को अर्जुन से भी कुछ ऐसे ही परफॉर्मेंस की आस है जिससे उसका selection इंडिया टीम में हो सके।

Previous
Next Post »